Jaipur Jodhpur Rajasthan State Technology Udaipur

राजस्थान में 20 हजार स्टांप विक्रेताओं के रजिस्टर काे ऑनलाइन किया जाएगा, उदयपुर, हनुमानगढ़, सीकर, जोधपुर से शुरुआत

राजस्थान में 20 हजार स्टांप विक्रेताओं के रजिस्टर काे ऑनलाइन किया जाएगा। इसमें मोबाइल एप में ऑनलाइन स्टांप खरीदने वाले व्यक्ति के आधार नंबर, नाम-पता, मोबाइल नंबर भरे जाएंगे। महानिरीक्षक, पंजीयन मुद्रांक विभाग ने योजना काे पायलट प्रोजेक्ट के तहत उदयपुर, हनुमानगढ़, सीकर और जोधपुर में शुरू किया है। जिलों में ऑनलाइन एप पूरी तरह लागू नहीं हाेने तक वेंडर्स पहले की तरह ही रजिस्टर में डिटेल भरेंगे। योजना काे लागू करने काे लेकर एनआईसी की राज्य इकाई मॉनिटरिंग कर रही है। पंजीयन व मुद्रांक विभाग के अधिकारियों का कहना है कि वेंडर्स रजिस्टर काे जमा करवाने में देरी करते हैं। रजिस्टर में कई कॉलम की जगह खाली छोड़ देते हैं। जिसमें बाद में पुरानी डेट में स्टांप बिक्री दिखाई जाती है। ऑनलाइन स्टांप काे धोखाधड़ी से बचने के लिए लागू किया जा रहा है।

यदि स्टांप विक्रेता मोबाइल एप का उपयोग नहीं करते हैं तो आगामी वित्तीय वर्ष 2023-24 के लिए उनका मुद्रांक अनुज्ञा पत्र नवीनीकरण नहीं होगा। स्थानीय सब रजिस्ट्रार कार्यालयों ने स्टांप विक्रेताओं काे ऑनलाइन प्रशिक्षण के लिए पाबंद किया है। स्टांप विक्रेताओं की ई-मेल आईडी, मोबाइल नम्बर, आधार कार्ड एवं एसएसओ आईडी मैप करवाई जा रही है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *